रविवार, फ़रवरी 25, 2024
होमIITsJEE Mains NTA NIC Result Live: (JEE Main 2023) Session 2 लेटेस्टअपडेट...

JEE Mains NTA NIC Result Live: (JEE Main 2023) Session 2 लेटेस्टअपडेट @jeemain.nta.nic.in

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE Main) के रिजल्ट का स्टूडेंट्स का काफी दिनों से इंतजार खत्म होनेवाला है. इसके रिजल्ट की घोषणा कभी भी की जा सकती है। इसके लेटेस्ट अपडेट की जानकारी के लिए ऑफिसियल वेबसाइट (jeemain.nta.nic.in) पे विजिट कर सकते हैं। आईआईटी भारत में प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान हैं। अपनी जेईई रैंक के आधार पर, आप IIT में से किसी एक में प्रवेश सुरक्षित कर सकते हैं, जिसमें IIT Bombay, IIT Delhi, IIT Madras और देश भर के अन्य प्रतिष्ठित परिसर शामिल हैं।

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE Main) इंजीनियरिंग उम्मीदवारों के लिए भारत में सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में से एक है। राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित यह परीक्षा भारत के कुछ सबसे प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेजों का प्रवेश द्वार है। परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है – जेईई मेन और जेईई एडवांस।

जेईई मेन परीक्षा का पहला चरण है, और जेईई मेन के परिणाम निर्धारित करते हैं कि कोई उम्मीदवार JEE Advance के लिए उपस्थित होने के योग्य है या नहीं। जेईई मेन (JEE Main) साल में दो बार जनवरी और अप्रैल में आयोजित किया जाता है। राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) जेईई मेन परीक्षा के संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

एनटीए जेईई मेन  (NTA JEE Main) परीक्षा आयोजित करने के लिए जिम्मेदार है, जिसमें परीक्षा केंद्रों की स्थापना, आवेदनों का प्रबंधन, प्रवेश पत्र जारी करना और परीक्षा आयोजित करना शामिल है। दूसरी ओर, NIC परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए आवश्यक तकनीकी अवसंरचना और सहायता प्रदान करने के लिए जिम्मेदार है। एनआईसी जेईई मेन (NIC JEE Mains) वेबसाइट के डिजाइन और विकास और वेबसाइट को अपने सर्वर पर होस्ट करने के लिए भी जिम्मेदार है।

परीक्षा आयोजित होने के बाद, एनटीए उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन और जेईई मेन के परिणाम घोषित करने का जिम्मा लेता है। जेईई मेन के नतीजे NTA की आधिकारिक वेबसाइट पर घोषित किये जायेंगे। उम्मीदवार अपने आवेदन संख्या और पासवर्ड या जन्म तिथि का उपयोग करके एनटीए की वेबसाइट पर लॉग इन करके अपना जेईई मेन परिणाम देख सकते हैं।

जेईई मेन के नतीजों में उम्मीदवार का स्कोर, पर्सेंटाइल और ऑल इंडिया रैंक (AIR) शामिल होता है। एक निश्चित कटऑफ से ऊपर स्कोर करने वाले उम्मीदवार JEE Advance के लिए उपस्थित होने के पात्र हैं। जेईई एडवांस परीक्षा परीक्षा का दूसरा चरण है, और JEE Advance के परिणाम भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT) में उम्मीदवारों के प्रवेश का निर्धारण करते हैं।

जेईई मेन के परिणाम भारत में Engineering कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। परिणाम उम्मीदवारों को उनकी ताकत और कमजोरियों को समझने में मदद करते हैं, और वे इस जानकारी का उपयोग भविष्य की परीक्षाओं के लिए अपनी तैयारी में सुधार करने के लिए कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, JEE Main के परिणाम कॉलेजों और University को उनके कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने में मदद करते हैं।

अंत में, JEE Mains exam एक चुनौतीपूर्ण और प्रतिस्पर्धी परीक्षा है, और परिणाम भारत में इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। NTA और NIC यह सुनिश्चित करने के लिए एक साथ काम करते हैं कि परीक्षा सुचारू रूप से आयोजित हो, और परिणाम सटीक और समय पर घोषित किए जाएं। उम्मीदवार आधिकारिक एनटीए वेबसाइट पर अपने JEE Mains परिणामों तक पहुंच सकते हैं और अपने अकादमिक और पेशेवर करियर की योजना बनाने के लिए परिणामों का उपयोग कर सकते हैं।

JEE Mains NTA NIC result

Board Name JEE Apex Board
Exam Name NTA Exam
Result JEE Mains
Result Date  April 2023
Official Website jeemain.nta.nic.in

JEE Mains NTA NIC

जेईई मेन (JEE Mains) संयुक्त प्रवेश परीक्षा मेन को संदर्भित करता है, जो भारत में आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की Engineering प्रवेश परीक्षा है। यह राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा प्रशासित है, जो भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा स्थापित एक स्वायत्त संगठन है।

NTA भारत में JEE Main, NEET (नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट), UGC NET (यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट) और कई अन्य सहित विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं के संचालन के लिए जिम्मेदार है। इसका प्राथमिक उद्देश्य विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए निष्पक्ष, पारदर्शी और कुशल परीक्षा आयोजित करना है।

NIC का मतलब राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र है, जो एक प्रमुख सरकारी संगठन है जो विभिन्न सरकारी विभागों और एजेंसियों को तकनीकी सहायता और समाधान प्रदान करता है। एनआईसी जेईई मेन (NIC JEE Main) जैसी ऑनलाइन परीक्षाओं के संचालन के लिए बुनियादी ढांचे और नेटवर्क सेटअप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह परीक्षा प्रक्रिया के तकनीकी पहलुओं के प्रबंधन में एनटीए की सहायता करता है, जिसमें ऑनलाइन पंजीकरण, आवेदन प्रक्रिया, प्रवेश पत्र तैयार करना, परिणाम प्रकाशन और अन्य संबंधित गतिविधियां शामिल हैं।

संक्षेप में, NTA (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) JEE मेन आयोजित करने के लिए जिम्मेदार है, जबकि NIC (नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर) परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए आवश्यक तकनीकी बुनियादी ढांचे और समर्थन के प्रबंधन में सहायता करता है।

JEE Main Pattern

जेईई मेन परीक्षा एक विशिष्ट पैटर्न का अनुसरण करती है जिसमें निम्नलिखित प्रमुख पहलू शामिल होते हैं:

परीक्षा मोड: जेईई मेन पेपर 1 (B.E./B.Tech) और पेपर 2 (B.Arch/B.Planning) दोनों के लिए कंप्यूटर आधारित मोड (ऑनलाइन) में आयोजित किया जाता है।

परीक्षा की अवधि: पेपर 1 के लिए परीक्षा की अवधि 3 घंटे और पेपर 2 के लिए 3 घंटे 30 मिनट है।

पेपर सेक्शन:

पेपर 1: इसमें तीन खंड होते हैं: भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित।
पेपर 2: इसमें तीन भाग होते हैं: गणित, एप्टीट्यूड टेस्ट और ड्राइंग टेस्ट (B.Arch के लिए) या योजना-आधारित प्रश्न (B.Planning के लिए)।
प्रश्न प्रकार: जेईई मेन में प्रश्न चार विकल्पों के साथ बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू) होते हैं, और कुछ प्रश्नों के लिए संख्यात्मक मूल्य-आधारित उत्तर भी आवश्यक होते हैं।

अंकन योजना: एमसीक्यू में प्रत्येक सही उत्तर में 4 अंक होते हैं, जबकि संख्यात्मक मूल्य आधारित प्रश्नों के लिए कोई नकारात्मक अंकन नहीं होता है। हालाँकि, MCQs में गलत उत्तरों के लिए, नकारात्मक अंकन के रूप में 1 अंक काटा जाता है।

कुल अंक: पेपर 1 में अधिकतम 300 अंक हैं, प्रत्येक विषय (भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) के लिए 100 अंक आवंटित किए गए हैं। पेपर 2 में अधिकतम 400 अंक होते हैं, जिसमें गणित और एप्टीट्यूड टेस्ट में 200 अंक होते हैं, और ड्राइंग टेस्ट या योजना-आधारित प्रश्न 100 अंकों के होते हैं।

भाषा विकल्प: जेईई मेन प्रश्न पत्र अंग्रेजी, हिंदी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं सहित कई भाषाओं में उपलब्ध है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि जेईई मेन का पैटर्न और विशिष्ट विवरण साल-दर-साल भिन्न हो सकते हैं, इसलिए यह सलाह दी जाती है कि नवीनतम और सटीक परीक्षा पैटर्न के लिए आधिकारिक सूचना विवरणिका या राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) की वेबसाइट देखें।

IIT Admission

प्रतिष्ठित संस्थानों में विभिन्न इंजीनियरिंग और तकनीकी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए भारत में संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) आयोजित की जाती है। जिन विशिष्ट संस्थानों में आप प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं, वे आपकी जेईई रैंक और आपके द्वारा पालन की जाने वाली परामर्श प्रक्रिया पर निर्भर करते हैं। जेईई परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद प्रवेश के कुछ सामान्य विकल्प यहां दिए गए हैं:

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी): आईआईटी भारत में प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान हैं। अपनी जेईई रैंक के आधार पर, आप आईआईटी में से किसी एक में प्रवेश सुरक्षित कर सकते हैं, जिसमें आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी मद्रास और देश भर के अन्य प्रतिष्ठित परिसर शामिल हैं।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी): एनआईटी भी भारत में अत्यधिक प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थान हैं। वे इंजीनियरिंग कार्यक्रमों की एक विस्तृत श्रृंखला पेश करते हैं। आपकी जेईई रैंक यह निर्धारित करेगी कि आप किस एनआईटी में प्रवेश सुरक्षित कर सकते हैं।

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (IIITs): IIIT विशेष संस्थान हैं जो सूचना प्रौद्योगिकी और कंप्यूटर विज्ञान पर केंद्रित हैं। वे स्नातक, स्नातकोत्तर और दोहरे डिग्री कार्यक्रमों की पेशकश करते हैं। आपकी जेईई रैंक निर्धारित करेगी कि आप किस आईआईआईटी में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं।

सरकार द्वारा वित्तपोषित तकनीकी संस्थान (जीएफटीआई): जीएफटीआई भारत सरकार द्वारा वित्तपोषित तकनीकी संस्थान हैं। कुछ प्रमुख जीएफटीआई में स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर (एसपीए), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च (आईआईएसईआर) और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) शामिल हैं। आपकी जेईई रैंक निर्धारित करेगी कि आप किस जीएफटीआई में प्रवेश सुरक्षित कर सकते हैं।

इन संस्थानों के अलावा, भारत भर में अन्य इंजीनियरिंग कॉलेज और विश्वविद्यालय भी हैं जो प्रवेश के लिए जेईई स्कोर पर विचार करते हैं। जिन संस्थानों में आप रुचि रखते हैं, उनके लिए विशिष्ट प्रवेश प्रक्रियाओं, परामर्श प्रक्रियाओं और योग्यता मानदंडों पर शोध करना और उन पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

इसके अतिरिक्त, यह ध्यान देने योग्य है कि जेईई परीक्षा दो भागों में विभाजित है: जेईई मेन और जेईई एडवांस्ड। एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई में प्रवेश के लिए जेईई मेन के अंकों पर विचार किया जाता है, जबकि आईआईटी में प्रवेश के लिए जेईई एडवांस के अंकों का उपयोग किया जाता है।

जेईई के बाद प्रवेश पर सबसे सटीक और अद्यतन जानकारी के लिए संबंधित संस्थानों की आधिकारिक वेबसाइटों और परामर्श प्रक्रियाओं से अपडेट रहना याद रखें।

Read more:

Top IITs College List

Conclusion

अंत में, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा आयोजित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) मेन भारत में इंजीनियरिंग के उम्मीदवारों के लिए एक अत्यधिक प्रतिस्पर्धी परीक्षा है। परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है, और जेईई मेन के परिणाम निर्धारित करते हैं कि क्या उम्मीदवार जेईई एडवांस परीक्षा के दूसरे चरण के लिए उपस्थित होने के योग्य है या नहीं।

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) जेईई मेन परीक्षा के संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए आवश्यक तकनीकी बुनियादी ढांचा और सहायता प्रदान करता है। परीक्षा आयोजित होने के बाद, एनटीए उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करता है और अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर जेईई मेन के परिणाम घोषित करता है।

जेईई मेन के नतीजों में उम्मीदवार का स्कोर, पर्सेंटाइल और ऑल इंडिया रैंक (एआईआर) शामिल होता है। परिणाम उम्मीदवारों को उनकी ताकत और कमजोरियों को समझने में मदद करते हैं और तदनुसार उनके अकादमिक और पेशेवर करियर की योजना बनाते हैं। इसके अतिरिक्त, परिणाम कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को उनके कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने में मदद करते हैं।

कुल मिलाकर, जेईई मेन के परिणाम भारत में इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण कारक हैं। NTA और NIC यह सुनिश्चित करने के लिए एक साथ काम करते हैं कि परीक्षा सुचारू रूप से आयोजित की जाए, और परिणाम सही और समय पर घोषित किए जाएं, जिससे उम्मीदवारों को उनकी शैक्षणिक और व्यावसायिक यात्रा में अगला कदम उठाने में मदद मिले।

Suraj
Surajhttps://governmentcolleges.com
Suraj Rajbhar is the author and founder of Governmentcollege.com.

IIT Jammu details in Hindi

IIT Bhilai details in Hindi

IIT Kanpur details in Hindi

- Advertisment -

Latest